-->

Translate

वकील (Advocate) कैसे बने ? How to become a lawyer in hindi.

वकील (Advocate) कैसे बने ? How to become a lawyer in hindi.

वकील (Advocate) कैसे बने ? How to become a lawyer in hindi. 

दोस्तों हर आज दुनिया में हर कोई कुछ न कुछ बनना चाहता है, चाहे  कोई वकील या डॉक्टर या इंजिनियर या कुछ भी लेकिन कोई भी करियर चुनने से पहले आपको उसके बारे में अच्छी जानकारी होना बहुत जरुरी है आपको समय से पहले उसकी तैयारी पर ध्यान देना होगा ताकि आप उस लायक बन सके आज हम इस पोस्ट के माध्यम से यही जाने की कोशिस करेंगे की वकील कैसे बनते हैं ? , वकील बनने के लिए किन योग्यताओं का होना जरुरी है ? तथा वकील बनने के लिए किन कोर्ष को किया जाता है ? लेकिन वकील कैसे बने यह जानने से पहले आपको यह जानकारी होना चाहिए की 


LLB क्या होता है ? 

दोस्तों  LLB का फुल फॉर्म होता है Legum Baccalaureus . यह एक प्रकार का डिग्री हिता है जो की एक वकील बनने के लिए बहुत ही जरुरी होता है इस डिग्री में आपको कानून से जुडी वह सभी बाते , जानकारिया बताई जाती है जो की हमारे संविधान में होती है किसी अपराधी को को यदि सजा हो जाती है तो उसे कैसे बचना है, या यदि किसी झगडे का केस किस तरह झगड़ा सुलह करना  करना है तमाम  सभी कानून आपको पढाया जाता है |


 दोस्तो यहां मैं आपको बता दूं कि एक कामयाब वकील झूठ का सहारा नही लेता हैं वह कानून के धाराओं के नियम का पालन करते हूये अपना पक्ष रखता हैं। किसी मुजरिम को सजा और बेगुनाहों को बचाना, उसी को वकालत कहते है |

वकील यानि advocate बनने के लिए आपको बारहवी तक पढ़ाई करना होता हैं। बारहवीं के बाद आपको लॉ की पढ़ाई पूरी करना होता हैं। लॉ में एडमिशन के लिए बारहवीं में 50 प्रतिशत मार्क्स होना अनिवार्य हैं । वकील बनने के लिए बहुत ही आसान रास्ता है ।  यदि आपके बारहवीं में 50 प्रतिशत या उससे ऊपर मार्क्स हैं तो आप लॉ में एडमिशन le सकते है 
पर आपको मैं बता दूं कि लॉ की पढ़ाई करने के लिए बारहवीं के बाद दो ऑप्शन हैं । 


(1)बारहवी से सीधे लॉ में एडमिशन । 
(2) ग्रैजुएट के बाद लॉ में एडमिशन

पहला कालम के बारे में हम जानकारी देते हैं। 

 (1) बारहवीं से सीधे लॉ में एडमिशन -----

दोस्तो कई students बारहवीं के बाद लॉ में एडमिशन ले लेते हैं ।दोस्तो बारहवीं के बाद यदि आप एडमिशन लेते है तो बहुत समझदारी वाली बात होगी । क्योकि वकीलो को आगे चलकर अदालत में अपना पक्ष रखना होता है । इसलिए आपको मजबूत होना जरूरी हैं ।आपको पांच साल का टाइम मिलेगा आप अच्छी तरह से तैयारी करेंगे ।। आपको बहुत सारी जानकारियां हासिल होगी । क्योकि advocate को हर क्षेत्र में की पूरी जानकारी होना जरूरी हैं । वकील को इतिहास से वर्तमान तक कि जानकारी होना चाहिए। देश से विदेश तक । जन्म से मुत्यु तक । ये सब जानकारी एक वकील के अंदर होना अनिवार्य हैं क्योकि एक कामयाब वकील को आम जनता की समस्या को हल करना है इसलिए समझदार स्टूडेंट्स पांच साल का ही कोर्स चुनाव करता हैं । अब हम ऑप्शन नम्बर दूसरा देख लेते हैं।

इसे भी पढ़े-

TT ( Ticket Collecter ) कैसे बने पूरी जानकारी हिंदी में 

CTET क्या है , कैसे करे तैयारी ?

(2) तीन साल का कोर्स---  

3 साल का कोर्स करने के लिये आपको ग्रेजुएट की डिग्री होना जरूरी है  ग्रेजुएट करने के बाद आप ला में एडमिशन ले सकते हैं लेकिन आपको उतनी जानकारी नही  मिलेगी जितनी की  पांच साल में मिलेगी यदि आप बारहवीं कक्षा के बाद ग्रेजुएट कर रहे है तो आप किसी तरह से घबराये नही क्योकि आप ग्रेजुएट किये हैं । आपको भी काफी जानकारी हैं । दोस्तों होता ये हैं कि कई students पहले से अपना जॉब के लेकर निश्चिंत नही होता हैं और बारहवीं के बाद सीधे ग्रेजुएट करने लग जाता हैं फिर बाद में निर्णय लेता हैं कि मुझे एल एल बी (l l b) करना हैं । इस तरह छात्र फस जाते हैं लेकिन छात्र को घबराना नही चाहिए ऐसे (स्टूडेंट्स) बहुत हैं जो बाद में निर्णय लेते हैं ।


  भारत की बात करे तो यहां 15% से 20% तक ( students) अपना निर्णय नही ले पाते हैं । फिर भी वह एक अच्छे वकील बनते हैं यदि आपके अंदर लगन यानी टैलेंट हैं तो आप हर मुश्किल काम को आसान बना दोगे इसलिए दोस्तो आप यदि ग्रेजुएट कर रहे हैं तो आप आसानी से ला कर के। अपना भविष्य उज्जवल कर सकते हैं इसलिए आप अपना ग्रेजुएट की पढ़ाई निश्चन्त से पूरा करें । आगे कोई दिक्कत नही आयेगी 

 अब दिमाग मे सवाल ये उठता हैं कि law में क्या (subject) बिषय लेकर पढ़ा जाए ? तो दोस्तो लॉ में कोई भी (subject) विषय लेकर पढ़ा जा सकता हैं जैसे -- साइंस, आर्ट्स या कामर्स इसमें से कोई subject आप लेकर Law की पढ़ाई पढ सकते हैं ।

 अब सवाल ये उठता हैं कि वकील बनने के लिए अंग्रेजी जरूरी हैं कि नही तो दोस्तो वकालत करने के लिए अंग्रेजी बहुत जरूरी हैं । क्योंकि जब आप अदालत में किसी की समस्या लेकर उसका पक्ष में अपनी बात रखेंगे तो आपके सामने दूसरे पक्ष का वकील खड़ा रहेगा वह वकील सरकारी भी हो सकता हैं वह वकील प्राइवेट भी हो सकता हैं ।उस वकील के बारे में आपको पता नही हैं कि वह वकील कितना जानकर हैं ।इसलिये आपको फर्राटेदार अंग्रेजी आनी चाहिए। ऐसे भी आज कल अंग्रेजी का बोलबाला हैं ऐसे भी यदि आपको अंग्रेजी का ज्ञान नही होगा तो हो सकता है किसी मुश्किल घडी का सामना करना पड़ जाय और आपको शर्मिंदगी उठानी पड़े, वैसे यह जरुरी नहीं है लेकिन जहां तक मेरा मानना है आपको इंग्लिश का ज्ञान होना आवश्यक है |

लॉ कॉलेज में एडमिशन के लिए एंट्रेस एग्जाम दें |

12th पास करने के बाद आपको लॉ कॉलेज में एडमिशन के लिए एंट्रेस एग्जाम देना बहुत जरुरी है तभी आप वकील बन पायेंगे | इसमें आपको जनरल नॉलेज से सम्बन्धित सवाल पूछे जाते है |  जिसमे गणित, इंग्लिश, सामाजिक किसी भी विषय से सवाल पूछे जा सकते है | इस एग्जाम को आप तभी दे सकते हैं जब 12 th क्लास में आपके 50 % से अधिक अंक हो | एंट्रेस एग्जाम देने के लिए आपकी उम्र अधिकतम 20 साल होनी चाहिए |  एंट्रेस एग्जाम देने के बाद वकील बन सकते है तथा वकालत कर सकते है |


मै उम्मीद करता हूँ की अब आप वकील (Advocate) कैसे बने ? ये जान गयें होगें साथ ही साथ हम आपको ये भी बताये की LLB क्या होता है ? तथा इसे कितने तरह से किया जा सकता है के बारे में बताया हमारे द्वारा दी गयी जानकारी अगर आपको ये जानकारी पसंद आया तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट जरूर करे तथा इस पोस्ट सम्बन्धित अगर आप का कोई सवाल हो तो आप हमसे पूछ सकते है और आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें |


0 Response to "वकील (Advocate) कैसे बने ? How to become a lawyer in hindi."

Post a comment